खरीददारी स्वर्णगंगा से ही क्यों ?

1). सर्टिफिकेट

स्वर्णगंगा ज्वैलर्स पर हम 100% IGI Certified ज्वैलरी उप्लब्ध करवा रहे है | इस दावे के साथ कि ह्म यह पहल करने वाले राजस्थान के प्रथम ज्वैलर है | IGI सबसे नामी लेबोरेट्री है व इसके सर्टिफिकेट को पुरी दुनिया में मान्यता प्राप्त है |

हमारी एक-एक ज्वैलरी IGI (International Gemological Institute ) सर्टिफाइड है ! जबकि दुसरे अन्य ज्वैलर्स/ब्राण्ड गिने चुने गहनों को ही IGI से सर्टिफाइड कराते है |


2). सोने के भाव बढ़ने का फायदा

ब्रांडेड ज्वैलरी रिटर्न करते समय पूरी किमत पर 10%-20% का नुकसान होता है | फिर चाहे सोने के भाव डबल भी हो जाए तो फायदा कंपनी को ही पहुचंता है | जबकि हमसे ज्वेलरी खरीदने पर डायमंड की किमत 10% का नुकसान होता है व सोने के पूरे 18 कैरेट के रुपये वापस मिलते है |


3) कुंदन ज्वैलरी में वजन का पूरा ब्यौरा

हम कुंदन ज्वैलरी का पूरा ब्योरा प्रदान करते है ! जैसे इसमे सोना कितना है ,बिड्स कितनी है ,जडाई कितनी है इत्यादि |इससे ग्राहक को रिसेल करते समय वाजिब किमत मिलती है|

डायमंड ज्वैलरी खरीदते वक्त ध्यान रखने योग्य तथ्य

1). सर्टिफाई ज्वैलरी खरीदे

ज्यादातर लोगो को यह भ्रम है कि सर्टिफाई ज्वैलरी महँगी होती है जो निराधार है | वास्तव में सर्टिफिकेट हीरे के कलर,क्लियरिटी, कट, कैरेट-वेट व उसके प्राकृतिक होने का लिखित प्रमाण है


2). डायमंड ज्वैलरी किसी भी घर- घर जाकर बेचने वाले से ना खरीदे

क्योकि वह आपको कोई आफ्टर सेल सर्विस नही दे पायेगा व ज्वैलरी खरीदने के बाद आप दुबारा बेचने - बनाने के लिए उसे ढूँढ ही नही पाऐगे |


3) ज्वैलरी हालमार्क हो

आजकल डायमंड ज्वैलरी 18 व 14 कैरेट में बन रही है अगर जेवर पर 750 लिखा है तो वह यह दर्शाता है कि जेवर 18 कैरट का है | यदि 580 लिखा है तो वह जेवर 14 कैरट का है |


4) सर्टिफिकेट व बिल सुरश्रित कर रखे

डायमंड ज्वैलरी का बिल माँगें व उसे सुरश्रित रखे | ताकि भविष्य में आप अपने डायमंड का गारंटी अनुरूप मूल्य विक्रेता से ले सके |